Tuesday, June 18, 2024
Homeजांजगीर चांपाप्रदेश में शिक्षा की स्तर जांजगीर चांपा जिला को जिम्मेदार ने बनाया...

प्रदेश में शिक्षा की स्तर जांजगीर चांपा जिला को जिम्मेदार ने बनाया फिसड्डी,,

  • @विजय दुबे::जांजगीर चांपा DEO कार्यालय हमेशा से विवादो से घिरा रहता है आज 10वी और 12वी का रिजल्ट से शिक्षा व्यवस्था ने पूरी तरह पोल खोल कर रख दी है बच्चो को पर्याप्त शिक्षण ना मिलने के कारण रिजल्ट में कमी दिखाई दिया ईससे सपष्ट है की यहां बड़ी सर्जरी की आवश्यकता है प्रशासन को इस ओर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है एजुकेशन हब बनाने कोशो दूर दिखाई दे रहा है जिला में पदस्थ कर्मचारियों की जिम्मेदारी राजनीति की भेंट चढ़ गई पिछला 4 से 5डीईओ पर राजनीति हावी रहा और कठपुतली बन कर काम कर जिला के शिक्षा विभाग को भ्रष्टाचार का पिच बनाकर खेलते रहे और मोटी रकम अंदर करते रहे यहां बैठे अधिकारियों शिक्षा को बढ़ावा देने के बजाय अपने जेब भरने में ज्यादा महत्वाकांक्षी रहे जिसका नतीजा आज सबके सामने स्पष्ट हो गए शिक्षा विभाग में शिक्षकों द्वारा ड्यूटी नाम मात्र के रह गई जबकि स्कूलों में शिक्षकों की कमी की वजह से बच्चों को पढ़ाई करने काफी समस्या का सामना करना पड़ा और बच्चे ट्यूशन के भरोसे कोर्स पूरा कर पढ़ाई करने मजबूर हो गए,

जिला में बच्चों के प्रति घटते रुझान भी चिंता का विषय,,

जांजगीर चांपा जिला में लगातार शिक्षा में बच्चों सहित बालकों की रुझान में कमी दिखाई दे रही है जिसमें पूर्व वर्ष की भांति इस वर्ष परीक्षार्थी लगभग 10हजार से कम विद्यार्थी ने भाग लिया इसका मूल कारण पर गहन चिंतन कर समाधान निकालना जरूरी,,

सरकार और प्रशासन ने मिलकर कई नवाचार कर लाखों रुपए खर्च किया जाता लेकिन रिजल्ट देने नाकाम हो जाता है राशि खर्च सिर्फ कागजों में दिखाई पड़ता है और सभी नवाचार धरे के धरे रह जाता है।

अब जिला में शिक्षा की स्थित सुधारने की जिम्मा ओपी का,,

xr:d:DAFNdFe6VCI:7005,j:6001464616803710196,t:24020905

जिला में शिक्षा की स्थिति सुधारना अब जांजगीर चांपा जिला के पूर्व कलेक्टर और प्रभारी मंत्री ओपी चौधरी के जिम्मा आ गई है चूंकि जांजगीर चांपा की तासीर को अच्छी तरह से समझने व समस्या का समाधान निकालना ओपी के लिए आसान होगा जिस तरह जिला की दुर्दशा शिक्षा में हुआ है वह चिंतनीय है,अब वह अपने प्रभार के जिला को किस तरह संवारेगे यह तो समय ही बता पायेगा

Deo अश्वनी कुमार भारद्वाज का कहना है कि इस साल रिजल्ट संतोषजनक है निश्चित ही आने वाले सत्र में हम अभी से मेहनत कर ब्लूप्रिंट तैयार कर रहे हैं जिससे अलग-अलग फॉर्मेट पर तैयार की जा रही है और शिक्षा के गुणवत्ता को बढ़ाने कलेक्टर का निर्देश भी जारी हो चुका है जो आने वाले सत्र में निश्चित रूप के सबके सामने होगा और रिजल्ट भी बेहतर आएगा,,

लापरवाह शिक्षक रहे कार्रवाई के लिए तैयार,,

शिक्षकों की गैर जिम्मेदाराना हरकत बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं की जाएगी बच्चों के साथ शिक्षकों का लापरवाही बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी वैसे शिक्षकों का शिकायत मिलने या औचक निरीक्षण कर कार्यवाही की जाएगी जिससे शिक्षा गुणवत्ता सुधरेगा शिक्षक समय पर स्कूल पहुंचे और अपने कर्तव्य का पालन करे।

RELATED ARTICLES

Most Popular