Un

जिले के सरकारी स्कूलों में अधोसंरचना मजबूत करने अतिरिक्त कक्षाओं का तेजी से निर्माण कार्य जारी।

कलेक्टर सिन्हा के विशेष पहल पर जांजगीर और सक्ती जिले के 101 स्कूलों में 105 अतिरिक्त कक्ष निर्माण की मिली है स्वीकृति।

ब्यूरो रिर्पोट जाज्वल्य न्यूज जांजगीर चांपा::कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा जिले के ग्रामीण क्षेत्रों के स्कूलों में भी अध्ययनरत बच्चों को बेहतर शिक्षा सुविधा उपलब्ध कराने लगातार कार्य कर रहे हैं। जिसके लिए वे विभिन्न स्कूलों का औचक निरीक्षण कर स्कूलों में शिक्षकों की उपस्थिति तथा बच्चों के ज्ञान का स्तर समझने और उन्हें प्रोत्साहित करने की दिशा में लगातार प्रयास करते हैं। जिले के कलेक्टर सिन्हा कभी भी स्कूलों में बच्चों को हिंदी, अंग्रेजी, गणित आदि विषय पढ़ाते व बच्चों से उनके ज्ञान के स्तर को समझने के लिए सवाल करते, पहाड़ा पूछते नजर आते हैं। इसके साथ ही उनके द्वारा बच्चों को प्रोत्साहित करने के लिए कभी पेन, कभी पेंसिल, तो कभी चॉकलेट देते नजर आते हैं। जिले के दूरस्थ ग्रामीण अंचलों में स्कूलों के निरीक्षण के दौरान बच्चों की बैठक व्यवस्था की समस्याओं को देखते हुए उनके द्वारा विशेष प्रयास करते हुए अविभाजित जांजगीर और सक्ती जिले के 101 स्कूलों में 105 अतिरिक्त कक्ष निर्माण की स्वीकृति हासिल की गई है। कलेक्टर ने जिले के 101 सरकारी स्कूलों में अधोसंरचना मजबूत करते हुए अतिरिक्त कमरों का निर्माण तेजी से करने के निर्देश दिए हैं। जिससे बच्चों को उचित बैठक व्यवस्था के साथ गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराई जा सके।

100 अतिरिक्त कक्ष का निमार्ण कार्य तेजी से है जारी-

कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा के दिशा-निर्देशन में 100 अतिरिक्त कक्ष के निर्माण कार्य के लिए संबंधित एजेन्सियों द्वारा लेआऊट तैयार कर तेजी से निर्माण कार्य किया जा रहा है तथा अन्य 5 अतिरिक्त कक्ष का निर्माण जल्द शुरू किया जाएगा। कार्यालय जिला मिशन समन्वयक समग्र शिक्षा जांजगीर-चांपा से प्राप्त जानकारी अनुसार अकलतरा विकासखंड के 9 स्क्ूलों में, बलौदा विकासखंड के 13 स्कूलों में, बम्हनीडीह विकासखंड के 16 स्कूलों में, नवागढ़ विकासखंड के 11 स्कूलों में, पामगढ़ विकासखंड के 12 स्कूलों में, डभरा विकासखंड के 11 स्कूलों में, सक्ती विकासखंड के 6 स्कूलों में, जैजैपुर विकासखंड के 13 स्कूलों में और मालखरौदा विकासखंड के 9 स्कूलों में निर्माण कार्य प्रारंभ किया जा चुका है। कलेक्टर ने सभी संबंधित निर्माण एजेन्सियों को गुणवत्तापूर्ण अतिरिक्त कक्ष निर्माण कार्य करने के निर्देश दिए है।

कलेक्टर ने ग्रामीण बच्चों को बेहतर शिक्षा उपलब्ध कराने डीएमएफ मद से राशि उपलब्ध कराने की पहल-

101 स्कूलों में अतिरिक्त कक्ष निर्माण के लिए लगभग 9 करोड़ की राशि होगी खर्च-

जब कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा जांजगीर-चांपा जिले में जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी थे तब उनके ही प्रयास से अतिरिक्त कक्ष निर्माण के लिए सत्र 2014-15 में प्रस्ताव भेजा गया था और वर्तमान में उनके विशेष प्रयास से 105 अतिरिक्त कक्ष निर्माण की स्वीकृति भी मिली है। लेकिन सत्र 2014-15 में अतिरिक्त कक्ष निर्माण के लिए जो लागत राशि निर्धारित थी वह समय बीतने के साथ दोगुनी हो चुकी है। जिस कारण कलेक्टर श्री सिन्हा ने सरकारी स्कूलों में कक्षाओं की कमी को दूर करने के लिए जिला खनिज संस्थान न्यास मद से शेष राशि वहन करने की पहल की। इसके तहत विभिन्न विकासखंड के 101 शासकीय प्राथमिक शाला और पूर्व माध्यमिक शाला सहित अन्य विद्यालयों के लिए अलग अलग समग्र शिक्षा मद से 4.37 लाख रूपए और जिला खनिज संस्थान न्यास मद से 3.95 लाख रूपए की स्वीकृति दी गई है। इसी प्रकार स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम विद्यालय बम्हनीडीह, बलौदा, अकलतरा और कस्तुरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय ससहा के लिए समग्र शिक्षा मद से 8.74 लाख रूपए और जिला खनिज संस्थान न्यास मद से 7.90 लाख रूपए की स्वीकृति दी गई है।

सरकारी स्कूल के बच्चों को बेहतर बैठक व्यवस्था के साथ अध्ययन की मिलेगी सुविधा-

कलेक्टर ने अतिरिक्त कक्ष निर्माण कार्य में लगे एजेन्सियों को गुणवत्तपूर्ण निर्माण सहित यह कार्य तेजी से करने के निर्देश दिए है। उन्होंने सभी संबंधित मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, विकासखंड शिक्षा अधिकारी, खंड स्त्रोत समन्वयक, ग्रामीण यांत्रिकी विभाग के अभियंताओं सहित अन्य संबंधित अधिकारियों को निर्माण कार्य का सतत निरीक्षण करने के निर्देश दिए है। निमार्ण कार्य पूर्ण हो जाने के बाद ऐसे सरकारी स्कूल जहां भवन की कुछ कमी थी तथा ऐसे स्कूल जहां दो कक्षाओं के विद्यार्थियों को एक साथ बैठकर अध्ययन करना पड़ता था उन बच्चों को बेहतर बैठक व्यवस्था के साथ अध्ययन की सुविधा मिलेगी।

स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट विद्यालय सारागांव और जांजगीर में भी सुविधा बढ़ाने की दिशा में किया जा रहा प्रयास-

कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा के दिशा-निर्देशन में स्वामी आत्मानंद विद्यालयों में भी सुविधाओं को बढ़ाने की दिशा में लगातार कार्य किया जा रहा है। इसके तहत आत्मानंद विद्यालय सारागांव में साइंस लैब, लाइब्रेरी, खेल मैदान, कम्प्यूटर कक्ष का निर्माण कार्य लगभग पूर्ण होने की स्थिति में है तथा अतिरिक्त कक्ष का निर्माण कार्य किया जाना है। इसी प्रकार स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट विद्यालय जांजगीर में भी बेहतर शिक्षा और गुणवत्तापूर्ण निर्माण कार्य के लिए सतत प्रयास किया जा रहा है।

jajwalyanews

देश में तेजी से बढ़ती हुई हिंदी समाचार वेबसाइट है। जो हिंदी न्यूज साइटों में सबसे अधिक विश्वसनीय, प्रमाणिक और निष्पक्ष समाचार अपने पाठक वर्ग तक पहुंचाती है।

Related Articles

Back to top button