धमतरीबालोदभिलाई दुर्गमहासमुंदमुँगेलीरायगढ़सरगुजा

ओमीक्रोन को लेकर स्वास्थ्य मंत्री टी एस बाबा बैठक खत्म, बोले280 यात्रियों की नही हो पाई पहचान नाईट कर्फ्यू को को लेकर दिया बड़ा बयान।

जांजगीर-चांपा::जाज्वल्य न्यूज़::रायपुर ओमीक्रोन को लेकर स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव की बैठक खत्म हो गई है. बैठक को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि 108 देशों में ओमिक्रोन पहुंच चुका है।
हमारे देश की स्थिति यह है कि छत्तीसगढ़ चारों तरफ से घिर गया है. हमारे पास कितने ज्यादा केस हो सकते हैं? उतने बिस्तर हैं या नहीं इस पर समीक्षा हुई।

उन्होंने कहा कि कोरोना तो पहुंचेगा ही, कोविड को लेकर कोई विशेषज्ञ अपनी राय नहीं दे रहे हैं कि यह कितना खतरनाक हो सकता है कितना नहीं, लेकिन दूसरी लहर के अनुभव के आधार पर हमारी कितनी तैयारी है, इस पर समीक्षा की गई. ओमिक्रोन को लेकर हमारे पास 17000 बिस्तर तैयार है।

उन्होंने कहा कि नाइट कर्फ्यू लगाना कोई ऑप्शन नहीं है. रात में तो वैसे भी कोई व्यक्ति घर से बाहर नहीं निकलता, अभी फिलहाल छत्तीसगढ़ में पॉजिटिविटी रेट 1% से भी नीचे है. यहां 500 के टेस्ट में 5 पॉजिटिव मिल रहे हैं. सबसे महत्वपूर्ण यह है कि कोरोना के प्रोटोकॉल का पालन हो सके, लॉक डाउन की बात तो बहुत दूर है।

मंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में विदेश से लौटे 280 लोग ऐसे जिनकी पहचान नहीं हो पाई है. ऐसे लोगों को लेकर स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि लगभग 280 लोग ऐसे है जिनकी नहीं हुई पहचान, उनके लिए पुलिस की मदद ली जा रही है. स्वास्थ्य विभाग भी उनकी पहचान करने में जुटा हुआ है।

स्कूलों को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में सब स्कूल बंद हो ऐसा नहीं होना चाहिए. पहले स्कूल की स्थिति की समीक्षा करनी चाहिए, कि वहां कोरोना कैसे पहुंचा, सभी स्कूलों को बंद करेंगे तो लाभ से ज्यादा नुकसान होगा. वहीं ज़िनोम सीक्वेंसिंग लैब को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि बजट में लैब के लिए प्रावधान करेंगे।

वहीं उन्होंने कहा कि केंद्र ने इसे लेकर नए नियम जारी किए हैं, जिसके तहत लैब बनाने के लिए पहले केंद्र सरकार से अनुमति लेनी होगी. ऐसे में हम केंद्र से अनुमति के लिए बात करेंगे. साथ ही बजट में भी इसके लिए प्रावधान करेंगे।

jajwalyanews

देश में तेजी से बढ़ती हुई हिंदी समाचार वेबसाइट है। जो हिंदी न्यूज साइटों में सबसे अधिक विश्वसनीय, प्रमाणिक और निष्पक्ष समाचार अपने पाठक वर्ग तक पहुंचाती है।

Related Articles

Back to top button